दुनिया के 7 अजूबे के नाम और फोटो | The 7 wonders of the world

दुनिया के 7 अजूबे के नाम और फोटो | The 7 wonders of the world

शेयर करे

दुनिया के 7 अजूबे के नाम और फोटो : वर्तमान समय में इस दुनिया में सात अजूबे घोषित किए गए हैं। यह सात अजूबे अपनी अपनी कला और अद्भुत कारीगरी के लिए प्रसिद्ध है। क्या आपको पता है कि दुनिया के सात अजूबे कौन-कौन से हैं? नहीं पता तो चलिए आज के इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा दुनिया के सात अजूबे क्या है? और यह कहां कहां है? मगर उससे पहले यह जान लेते हैं कि सात अजूबों का चुनाव कैसे हुआ!

7 अजूबे कैसे चुने गए?

 

दुनिया के 7 अजूबे के नाम और फोटो
दुनिया के 7 अजूबे के नाम और फोटो

सात अजूबे चुनने का विचार 1999 में आया। इसके लिए स्विट्जरलैंड में फाउंडेशन की स्थापना हुई जिसका नाम new 7 wonders फाउंडेशन रखा गया। इस फाउंडेशन ने एक वेबसाइट बनाई जहां पर दुनिया भर की कलाकृतियों को शामिल किया गया। फाउंडेशन के द्वारा चुने गए 200 कलाकृतियों में से 7 को चुनना था। इसके लिए दुनिया भर में लोगों के द्वारा पोल कराया गया।

इस पोल में करीब 100 मिलियन लोगों ने मोबाइल फोन के द्वारा अपना पोल दिया। हालांकि उस समय इंटरनेट का बहुत अधिक चलन नहीं था इसीलिए इस पोल को पूरा करने में और इसके रिजल्ट दुनिया के सामने लाने में करीब 8 साल लग गए l अंत में 7 जुलाई 2007 को दुनिया के सात अजूबों की लिस्ट दुनिया केसामने आई।

दुनिया के सात अजूबों के नामों की लिस्ट

  1. चीन की दीवार (China wall)
  2. ताजमहल (Taj Mahal)
  3. क्राइस्ट रिडीमर (Christ redeemer)
  4. पेट्रा (Petra)
  5. कोलोज़ीयम (Colosseum)
  6. चिचेन इत्ज़ा (Chichen Itza)
  7. माचू पिच्चू (Machu Picchu)

आइए अब दुनिया के सात अजूबे के नाम और फोटो सहित जानकारी लेते हैं।

दुनिया के 7 अजूबे के नाम और फोटो | the 7 wonders of the world

 

1: चीन की दीवार (the Great Wall of China )

चीन की दीवार (the Great Wall of China )
चीन की दीवार (the Great Wall of China )

दुनिया के सात अजूबों में से सबसे पुराना चीन की दीवार है। इसका निर्माण 700 BC में शुरू हुआ था। और सोलवीं सदी तक इस दीवार का निर्माण चला। चीन पर शासन करने वाले अलग-अलग शासकों ने इस दीवार को बनवाया। इस दीवाल की कुल लंबाई 6400 किलोमीटर है और ऊंचाई 35 फुट है। इस दीवार को बनाने का मुख्य कारण चीन को बाहरी आक्रमणकारियों से बचाना था।

इसे भी पढ़े:

Year 536 ad: मानव इतिहास का सबसे खराब साल!

2:ताजमहल (Taj Mahal)

ताजमहल
ताजमहल

हम भारतीयों की शान ताजमहल है। मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी प्रिया बेगम मुमताज की मौत के बाद इस खूबसूरत इमारत को बनवाया था। ताजमहल वर्तमान समय में उत्तर भारत से आगरा राज्य में है। ताजमहल का निर्माण कार्य 1632 से ऊपर 1653 तक चला था। ताजमहल की पूरी इमारत सफेद संगमरमर के पत्थरों से बनाया गया था और इस पर अद्भुत कलाकृति बनाई गई है।

इसे भी पढ़े:

black death pandemic : एक भयंकर महामारी जिससे यूरोप की आधी आबादी खत्म दी!

3: क्राइस्ट रिडीमर (Christ redeemer)

 

क्राइस्ट रिडीमर (Christ redeemer)
क्राइस्ट रिडीमर (Christ redeemer)

विशाल प्रतिमा है जो ब्राजील के रियो डी जेनेरो में स्थापित है। यह दुनिया की सबसे ऊंची मूर्तियों में से एक है। इसकी ऊंचाई 130 फीट है और चौड़ाई 98 फीट इस मूर्ति के केवल आधार की ही ऊंचाई तक 30 फीट है। क्राइस्ट रिडीमर की मूर्ति को बनाने का काम होने से1922 से 1931 के बीच तक चला। यह ईसाई धर्म का बहुत बड़ा धार्मिक स्थल भी है।

इसे भी पढ़े:

होलोकॉस्ट क्या था? जो 60 लाख यहूदियों की मौत का कारण!

 

4:पेट्रा (Petra)

पेट्रा (Petra)
पेट्रा (Petra)

पेट्रा एक प्राचीन शहर है जिसे चट्टानों और पत्थरों को काटकर बसाया गया था। बहुत आश्चर्य की बात है कि इतने बड़े पत्थर को काटकर कैसे बड़ी-बड़ी इमारतें बनाई गई होगी ऐसा माना जाता है कि पेट्रा शहर 1200 ईसा पूर्व में बना था। आपको बता दूं कि पेटरा को यूनेस्को ने विश्व धरोहर घोषित किया हुआ है ।जॉर्डन देश की शान पेट्रा है। यहां हर साल लाखों लोग  पेट्रा शहर को देखने आते है।

इसे भी पढ़े:

मोनालिसा की पेंटिंग का रहस्य क्या है? इसकी खासियत क्या है? और आखिर मोनालिसा कौन थी?

 

5: कोलोजियम (Colosseum)

कोलोज़ीयम (Colosseum)
कोलोज़ीयम (Colosseum)

रोम इटली का एक प्राचीन विशाल स्टेडियम है यह स्टेडियम इतना बड़ा है कि इसमें 50 हजार से 80 हज़ार लोग बैठ सकते हैं और इसका निर्माण 72 ad से शुरू होकर 80 ad में पूरा हुआ। हालाकी कोलोजियम भूकंप के कारण आधा-गिर गया है पर फिर भी यह पर्यटकों का मुख्य आकर्षण केंद्र है। आज की इतनी उन्नत इंजीनियरिंग के बावजूद भी इस तरीके की इमारत बनाना वर्तमान समय के लिए असंभव है। इस प्राचीन स्टेडियम में विभिन्न खेल और प्रतिस्पर्धा ओं का आयोजन होता था।

 

इसे भी पढ़े:

2000 साल पुरानी नज़का लाइन का रहस्य क्या है? क्या इसे एलियन में बनाया था?

6: चिचेन इत्ज़ा (Chichen Itza)

चिचेन इत्ज़ा (Chichen Itza)
चिचेन इत्ज़ा (Chichen Itza)

चिचेन इत्ज़ा माया सभ्यता के द्वारा बसाया गया एक बहुत बड़ा शहर था। इस शहर के मुख्य केंद्र चिचेन इत्ज़ा माया मंदिर है। इस मंदिर का निर्माण 600 ईसा पूर्व में हुआ था। इस प्राचीन समय में इस शहर की जनसंख्या भी काफी अधिक थी। यह मंदिर 5 किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। इसकी ऊंचाई 69 फुट है। पहली नजर में देखने पर यह पिरामिड जैसा लगता है। मंदिर के चारों कोनों पर सीढ़ियां बनी है हर एक तरफ 91 सीढ़ी है जो कुल मिला कर 665 होता है। यह सीढ़ी 665 दिनों को दर्शाती है।

एक अनुमान के मुताबिक मेक्सिको में हर साल डेढ़ मिलियन लोग चिचेन इत्ज़ा को देखने के लिए आते हैं।

इसे भी पढ़े:

‘लालची कप’ या ‘पाइथागोरस कप’ क्या है? जो शराबियों के लिए बनाया गया था।

7: माचू पिच्चू (Machu Picchu)

Machu Picchu
Machu Picchu

माचू पिच्चू दक्षिण अमेरिका के पेरू में स्थित है। इस शहर की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह ऊंची चोटी पर बसा हुआ शहर है।इसकी ऊंचाई समुद्र तल से 2430 मीटर है। यह शहर इंका सभ्यता के द्वारा बसाया गया था। माचू पिच्चू हो खोज 1911 में प्रसिद्ध इतिहासकार हिरम बिंघम ने किया था।

इतिहासकारों की मानें तो यह शहर को 14 शताब्दी में राजा पचाकुती ने बसाया था। जब यहां के राजा ने स्पेन को जीता और वह वहीं रहने चले गए। तब यहां मौजूद इंका सभ्यता के लोगों को उचित रखरखाव नहीं मिला जिनकी वजह से यह सभ्यता के लोग धीरे-धीरे समाप्त हो गई।

आखिरी शब्द

इस पोस्ट में हमनेदुनिया के 7 अजूबे के नाम और फोटो जानकारी ली। उम्मीद है की आपको दुनिया के सात अजूबों के बारे में हमको जानकारी मिल गई होगी।

मेरे विचार

क्या आपने इन सात अजूबों में से किसी भी एक अजूबे को अपनी आंखों से देखा है तो हमें कमेंट करके जरूर बताइए। हमे यह जानकर बहुत खुशी होती है कि दुनिया के सात अजूबों में से एक हमारा ताजमहल की है।

इसे भी पढ़े:

बेहद रोचक है। 5000 साल पुराना चाय का इतिहास!

1900 साल पहले का पोम्पेई शहर का भयंकर इतिहास जब 20,000 लोग पत्थर के बन गए। जान लीजिए पोम्पी शहर में क्या हुआ था!

ये 9 अजीबोगरीब शौक वाले भारतीय राजा महाराजा!

Leave a Comment

Your email address will not be published.